New Age Islam
Sat Nov 27 2021, 09:55 AM

Hindi Section ( 26 Oct 2021, NewAgeIslam.Com)

Comment | Comment

Abduction, Rape, Forced Conversion Of Minor Girls Of Minority Communities In Pakistan न केवल चरमपंथी बल्कि पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान भी पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समुदायों की लड़कियों के अपहरण, बलात्कार और जबरन धर्म परिवर्तन का बचाव करते हैं

इमरान खान का कहना है कि जबरन धर्मांतरण (ड्राफ्ट) विधेयक इस्लाम के खिलाफ है

प्रमुख बिंदु:

1. फरवरी में, एक हिंदू लड़की, रीना कुमारी मेघवार का अपहरण कर लिया गया और जबरन इस्लाम में परिवर्तित कर दिया गया।

2. एक नाबालिग लड़की चशमां का एक मुस्लिम ने अपहरण कर लिया, जबरन धर्म परिवर्तन कर उससे शादी कर ली।

3. धार्मिक मामलों के मंत्रालय ने शरीयत के खिलाफ धर्मांतरण विरोधी विधेयक के मसौदे की घोषणा की

4. इमरान खान ने कहा कि वह किसी भी जबरदस्ती धर्मांतरण विरोधी बिल को पारित नहीं होने देंगे

5. पाकिस्तान में हर साल अल्पसंख्यक समुदायों की 1000 से अधिक लड़कियों का अपहरण किया जाता है और उन्हें जबरन इस्लाम में परिवर्तित किया जाता है।

 -----

न्यू एज इस्लाम संवाददाता

11 अक्टूबर 2021

पाकिस्तान में जबरन धर्म परिवर्तन कोई नई घटना नहीं है। पाकिस्तान के धार्मिक अल्पसंख्यकों ने इस मुद्दे को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार निकायों और संयुक्त राष्ट्र के सामने बार-बार उठाया है।

हालांकि गैर-मुसलमानों का जबरन धर्म परिवर्तन कुरआन और हदीस के खिलाफ है, पाकिस्तान में धार्मिक चरमपंथी संगठनों और धार्मिक कट्टरपंथियों ने हमेशा शरीअत की आड़ में इसका बचाव किया है। धर्मांतरण विरोधी बिलों का पाकिस्तान के धार्मिक कट्टरपंथियों ने विरोध किया और उसे खारिज कर दिया है। जबरन धर्म परिवर्तन विरोधी बिल सिंध विधानसभा में धार्मिक समुदाय के दबाव के कारण पारित नहीं हुआ था।

हाल ही में, धार्मिक मामलों के मंत्रालय ने जबरन धर्मांतरण विरोधी विधेयक को शरिया विरोधी बताते हुए खारिज कर दिया। ऐसा प्रतीत होता है कि प्रधान मंत्री इमरान खान अपने देश के धार्मिक चरमपंथियों के दबाव के आगे झुक गए हैं क्योंकि उन्होंने कहा है कि वह धर्मांतरण के खिलाफ इस तरह के किसी भी बिल की अनुमति नहीं देंगे।

हाल ही में कासिम खासखेली द्वारा एक नाबालिग हिंदू लड़की रीना का अपहरण और जबरन धर्म परिवर्तन, और एक नाबालिग ईसाई लड़की, चशमां का अपहरण और जबरन धर्म परिवर्तन, आम बात है। भारत का आरोप है कि पाकिस्तान में आए दिन अल्पसंख्यकों का उत्पीड़न, अपहरण और जबरन धर्म परिवर्तन किया जाता है।

सिर्फ तीन महीने पहले, भारत ने जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (एचआरसी) के 47वें सत्र में पाकिस्तान के बयानों का जवाब देने के अपने अधिकार का इस्तेमाल किया था, जिसमें आरोप लगाया गया था कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर हमले लगभग रोज होते हैं।

जिनेवा में भारत के स्थायी मिशन के प्रथम सचिव पवन बाधे ने कहा, पाकिस्तान में ईसाई, अहमदी, सिख और हिंदुओं जैसे धार्मिक अल्पसंख्यक समुदायों से संबंधित 1,000 से अधिक लड़कियों का हर साल अपहरण और बलात्कार किया जाता है और उन्हें जबरन इस्लाम में परिवर्तित किया जाता है।

इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि श्री बाधे ने कहा कि उत्पीड़न सरकार के संरक्षण में किया जाता है। भारत में अल्पसंख्यक अधिकारों के हिमायती बनने वाले इमरान खान ने न सिर्फ पाकिस्तान के धार्मिक अल्पसंख्यकों पर हो रहे अत्याचारों से आंखें मूंद ली हैं बल्कि धार्मिक बहुसंख्यकों, खासकर चरमपंथी संगठनों और देश के मौलवियों के दबाव में झुकते समय आ ररहे है। विडंबना यह है कि सत्तारूढ़ तहरीक-ए-इंसाफ की स्थिति तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के समान है, जो कहता है कि जबरन धर्मांतरण विरोधी बिल इस्लाम के खिलाफ है।

English Article: Abduction, Rape, Forced Conversion Of Minor Girls Of Minority Communities In Pakistan Are Defended By Not Only Religious Bigots But Also By Prime Minister Of Pakistan Imran Khan, The Self-Proclaimed Champion Of Minorities Of India

Urdu Article: Abduction, Rape, Forced Conversion Of Minor Girls Of Minority Communities In Pakistan پاکستان میں اقلیتی برادریوں کی بچیوں کے اغوا، عصمت دری اور جبرا تبدیلی مذہب کا دفاع نہ صرف انتہا پسند بلکہ پاکستان کے وزیر اعظم عمران خان بھی کرتے ہیں

URL: https://www.newageislam.com/hindi-section/abduction-rape-forced-conversion-pakistan/d/125653

New Age IslamIslam OnlineIslamic WebsiteAfrican Muslim NewsArab World NewsSouth Asia NewsIndian Muslim NewsWorld Muslim NewsWomen in IslamIslamic FeminismArab WomenWomen In ArabIslamophobia in AmericaMuslim Women in WestIslam Women and Feminism


Loading..

Loading..