New Age Islam
Fri Jan 15 2021, 04:05 PM

Loading..

Hindi Section ( 26 Jun 2014, NewAgeIslam.Com)

Al-Qaeda's Notion of Freedom स्वतंत्रता के बारे में अलक़ायदा की धारणा

 

 

 

 

 

मुस्तफा अक्योल

30 नवम्बर, 2013

इन दिनों उत्तरी सीरिया में तथाकथित ''इस्लामिक स्टेट आफ इराक और अल-शाम' (आईएसआईएस) का बोलबाला है, जिसका अर्थ ग्रेटर सीरिया है। ''आईएसआईएस' के नाम से मशहूर इस कट्टरपंथी समूह की सीरिया के तानाशाह बशर अलअसद के समर्थकों समेत उदार विपक्ष के लोगों का सिर काटने समेत की इनकी क्रूर सज़ाओं से पूरी दुनिया स्तब्ध है। स्पष्ट रूप से ये अलक़ायदा की एक शाखा है और इसीलिए गर्व के साथ हिंसक गतिविधियों को अंजाम देती है जिसे बाक़ी की दुनिया आतंकवाद मानती है।  

उत्तरी प्रांत का राक्का ''आईएसआईएस' का मज़बूत गढ़ है। हाल ही में इन लोगों ने इस इलाके के प्रमुख मार्गों पर बुर्का पहने एक महिला का पोस्टर लगाया है, और इसमें घोषणा की है किः

'माफ करें, लेकिन क़ुरान और सुन्नत के अनुसार हम ऐसी ही आज़ादी चाहते हैं।''

दूसरे शब्दों में ''आईएसआईएस'' ऐलान करता है कि, वो जिस आज़ादी में विश्वास रखते हैं वो महिलाओं को एक विशेष ड्रेस कोड अपनाने पर मजबूर करता है। (वो न केवल इस ड्रेस कोड की वकालत करते हैं बल्कि बंदूक की नोक पर इसे लागू भी करते हैं।)

पश्चिमी पाठकों को यहाँ पर मूर्खता पूरी तरह स्पष्ट होनी चाहिए फिर भी मैं यहाँ थोड़ा व्याख्या करने की कोशिश करूँगा। इसलिए कि अलकायदा जैसे हिंसक चरमपंथियों की तो बात तो छोड़ ही दें, रूढ़िवादी मुसलमानों के बीच ये विचार कि ''असल आज़ादी'' इस्लाम के अधीन होने के समान है, काफी लोकप्रिय है।  

मेरे मुताबिक आज़ादी की और सरल परिभाषा इस प्रकार हो सकती हैः आपकी इच्छा के खिलाफ कुछ भी करने के लिए मजबूर न होने की स्थिति को ही स्वतंत्रता कहते हैं। इस अर्थ में वास्तविक या कथित रूप से बुर्का, स्कार्फ या कोई दूसरा 'इस्लामी' ड्रेस कोड पहनने के लिए मजबूर होना निश्चित रूप से स्वतंत्रता का हनन है। इसी तरह तुर्की या अन्य जगहों पर सत्तावादी सेकुलरिस्टों ने जैसा निर्धारित किया है वैसा लिबास न पहनने के लिए मजबूर किया जाना भी आज़ादी का हनन है। 

दूसरे शब्दों में ये कहा जा सकता है कि किसी भी ड्रोस कोड- चाहे ये बुर्क़ा हो या बिकिनी, इसमें कोई आज़ादी निहित नहीं है। आज़ादी क्या पहनना है उसका चयन करने में सक्षम होना है। वास्तव में कुछ रूढ़िवादी मुस्लिम औरतें पर्दा करना को चयन करती है, ये उनकी पसंद है और इस तरह ये उनकी आज़ादी है। कुछ महिलाएं बिकनी और मिनी स्कर्ट पहनना पसंद कर सकती हैं, ये उनकी पसंद है और इस तरह ये उनकी स्वतंत्रता भी है।

इसी तरह इस्लाम या अन्य धर्मों में कोई निहित स्वतंत्रता या उसका अभाव नहीं है। अगर लोग धर्म स्वीकार करते हैं और स्वेच्छा से इसके नियमों का पालन करते हैं, तो वो अपनी स्वतंत्रता पर अमल कर रहे हैं। मिसाल के लिए अपने धर्म पर सख्ती से अमल करने वाले मुसलमान अगर अपनी मर्ज़ी से रमज़ान के पूरे तीस दिनों में भोजन और पानी से अपने शरीर को वंचित रखते हैं तो वो अपनी स्वतंत्रता का आनंद उठा रहे हैं। लेकिन अगर कोई उन्हें रोज़ा रखने के लिए मजबूर करे और उन्हें खाने और पीने से वंचित रखे तो ये उनकी स्वतंत्रता पर हमला होगा।

आज पूरी दुनिया में मुसलमानों के सामने सबसे बड़ा सवाल ये है कि या तो ये माना जाए कि इस्लाम स्वतंत्रता का सम्मान करता है और उसी के दायरे में काम करता है या फिर इसे ऐसी सत्तावादी व्यवस्था माना जाए जो स्वतंत्रता का हनन करता है। अलक़ायदा के जैसे चरमपंथी गुट इस्लाम के बारे में बाद वाली अवधारणा (ऊपर वर्णित) की सबसे बुरी मिसालें हैं। लेकिन फिर भी बहुत से उदार लेकिन बंद दिमाग वाले मुसलमानों को अपने उन व्यवहारों के बारे में सोचने की ज़रूरत है, जिनका सम्बंध इस्लाम को प्रस्तावित करने के बजाय उसे दूसरों पर थोपने से है।

शायद हमें इन बातों पर अधिक गहराई के साथ विचार करने की ज़रूरत है कि कुरान ने इस बात की घोषणा क्यों की कि, ''धर्म में कोई ज़बरदस्ती नहीं है।'' इसलिए कि आदमी को सत्ता हासिल हो जाती है तो वो उन बातों को दूसरों पर थोपना चाहता है जो उसे लगता है कि सही हैं। हालांकि जब वो धर्म के नाम पर ऐसा करते हैं तो इससे वास्तविक धार्मिकता पैदा नहीं होती है। बल्कि स्वतंत्रता के हनन से वो केवल पाखण्ड पैदा करते हैं।  

स्रोत: http://www.hurriyetdailynews.com/al-qaedas-notion-of-freedom.aspx?pageID=449&nID=58763&NewsCatID=411

URL for English article:

http://www.newageislam.com/islam-and-politics/mustafa-akyol/al-qaeda’s-notion-of-‘freedom’/d/34684

URL for Urdu article:

http://newageislam.com/urdu-section/mustafa-akyol/al-qaeda’s-notion-of-‘freedom’--آزادی-کے-بارے-میں-القاعدہ-کا-تصور/d/97747

URL for this article:

http://www.newageislam.com/hindi-section/mustafa-akyol,-tr-new-age-islam/al-qaeda-s-notion-of-freedom-स्वतंत्रता-के-बारे-में-अलक़ायदा-की-धारणा/d/97763

 

Loading..

Loading..