certifired_img

Books and Documents

Hindi Section

खुदा ने मोहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की उम्मत के लिए यह भी फर्ज़ कर दिया है कि वह हज़रत मोहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम पर दरूद व सलाम कसरत से भेजते रहेंl दरूद व सलाम भेजना अफज़ल इबादत भी हैl दरूद व सलाम के बड़े सवाब की वजह से खुद हुज़ूर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम अपने सहाबा से दरूद व सलाम की ताकीद करते थेl खुदा इस बात का आदेश इस आयत में देता है-

 

गायकार सोनू निगम ने कुछ समय पहले माइक पर अज़ान की आलोचना की थी तो मुसलमानों ने इसे असहिष्णु और संकीर्ण मानसिकता करार दिया था मगर अब कलकत्ता की एक मुस्लिम शख्सियत ने अज़ान की आलोचना कर के एक विवाद खड़ा कर दिया है और खुद मुसलमान ही बगलें झाँक रहे हैं और इस मामले को दबाने की कोशिश कर रहे हैंl घटना यह है कि २ जुलाई को कलकत्ता के मिल्ली अल अमीन कॉलेज में उलेमा, बुद्धिजीवियों और मिल्ली संगठनों के नेताओं की एक मुशावरती मीटिंग मिल्लत ए इस्लामिया के सामने मॉब लिंचिंग और दोसरे समस्याओं पर गौर करने के लिए बुलाई गई थीl

 

कुरआन के नाज़िल होने और हुजुर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के भेजे जाने का उद्देश्य यही है कि इंसान के दुनियावी मामले बेहतर हो जाएं चाहे वह मामले ज़ाती हों, समाजी हों, पारिवारिक हों, वैवाहिक हों, व्यक्तिगत हों चाहे क्षेत्रीय या वैश्विक होंl असल उद्देश्य यह है कि इंसान की शख्सियत संवर जाए और इसकी सारी ताकत आख़िरत को बेहतर बनाने में खर्च होl

 

मज़हब पुर्णतः प्रकृति के खिलाफ साबित हुआ है इसलिए कि हर मज़हबी हुक्म या कानून उस चीज को खत्म करता है जिससे इंसान को लज्ज़त मिलती है और हर उस बात से परहेज़ करने का आदेश देता है जो खुद के हक़ में या समाज के हक़ में हानिकारक है, और बड़े पैमाने पर समाज की भलाई के लिए ऐसे कामों का आदेश देता है जो तकलीफदेह या नागवार हो सकते हैंl

 

बेशक हमारा प्यारा वतन एक महान देश हैl पूरी दुनिया में यहाँ की सभ्यता व संस्कृति ज्ञान व कला की प्राचीन काल में भी शोहरत व अज़मत थी और आज भी उन्हीं विशेषताओं के लिए जाना जाता हैl वर्तमान काल में विज्ञान और तकनीक ने और इस देश को उंचाई के शिखर तक पहुंचा दिया हैl इसके साथ साथ लोकतांत्रिक भारत के आंदोलन का इतिहास भी एक ऐसी रचनात्मक उदाहरण है जहां विभिन्न धर्मों और भाषाओं से संबंध रखने वाले शांति और अमन व सलामती के साथ रहते हैंl

 

संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार काउंसिल ने पिछले मार्च एक प्रस्ताव स्वीकार किया था जिसे इस्लामी देशों की तरफ से पाकिस्तान ने पेश किया था जिसके अनुसार “धर्म का अपमान” को मानवाधिकारों की खिलाफवर्जी स्वीकार किया गया थाl ५६ देशों पर आधारित और्गिनाइज़ेश्न आफ इस्लामिक कांफ्रेंस का नेतृत्व करते हुए पाकिस्तान ने कहा था कि “इस्लाम को हमेशा गलत तौर पर मानवाधिकार की खिलाफवर्जी और आतंकवाद के साथ जोड़ा जाता हैl इसने राज्यों से ऐसे लोगों पर पकड़ मजबूत करने का मुतालबा किया था जो नस्लीय और मज़हबी अल्पसंख्यकों के लिए असहिष्णुता का प्रदर्शन करते हैं और यह भी कहा था कि “सहिष्णुता और सभी दीनों व मजहबों के सम्मान को बढ़ावा देने के लिए सभी संभव कदम उठाए जाएंl

 

श्री राम कृष्ण को वेदांत में ही बुत परस्ती का जवाज़ नज़र आयाl हिन्दुओं के दोसरे बड़े धार्मिक आलिमों और रूहानी पेशवाओं ने भी बुत परस्ती को सहीह ठहरायाl इसलिए बुतपरस्ती हिन्दुओं में रिवाज पा गईl उनका विश्वास था कि बुतों पर इर्तेकाज़ के माध्यम से नए मुर्ताज़ को निर्गुण ब्राह्मण की पहचान हासिल करने में मदद मिलती है और वह आगे चल कर गुणों से खाली वास्तविक माबूद की पहचान हासिल करने में सफल हो जाते हैंl

 

जीव विज्ञान के विशेषज्ञों ने लम्बे अध्ययन और अवलोकन के बाद जानवरों के प्राकृतिक आदतों का उसी प्रकार निर्धारण किया है जैसे मनोविज्ञान के विशषज्ञों ने इंसानों के आंतरिक और सामाजिक व्यवहारों काl भेड़िया कुत्ते की नस्ल का शिकारी जानवर है लेकिन पालतू नहीं है अर्थात उसे कुत्ते की तरह पालतू नहीं बनाया जा सकता हैl आश्चर्यजनक बात है कि नस्ली विकास और शारीरिक गुणों में कुत्ते से अच्छे होते हुए भी भेड़िया कुत्ते की तरह बहादुर नहीं होताl

 

मॉब लिंचिंग या आतंकवाद की वबा सार्व देश में फूट पड़ी हैल इसके बारे में मुसलमानों की चिंता और फिक्रमंदी स्वभाविक बात हैl क्योंकि उन पर नाहक हमले किसी ना किसी बहाने से किये जा रहे हैंl आज कल ‘जय श्री राम’ के ना बोलने से मुसलमानों पर हमले एक के बाद एक किये जा रहे हैंल जहां जहां संघ परिवार की हुकूमतें हैं वहाँ हमला करने वालों की सराहना हो रही हैl अपराधियों को गले लगाया जा रहा है और फूलों का हार पहना कर स्वागत किया जा रहा है l

 

ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में शब्द टेररिज्म के यह अर्थ दर्ज हैं कि राजनीतिक उद्देश्यों के प्राप्ति या किसी चयनित या अचयनित सरकार को किसी काम पर मजबूर करने के लिए हिंसक कार्यों के प्रयोग को टेररिज्म कहा जाता हैl शब्द आतंकवाद को इस्लाम और मुसलामानों के साथ जोड़ने का खेल वैश्विक षड्यंत्र का हिस्सा हैl जिसका खाका बनाने और व्यावहारिक उपाय में लाने में इस्लाम दुश्मन तत्व यहूदियत ही हैl

 

पिछले कुछ दिनों से एक बार फिर मॉब लिंचिंग की वारदात में वृद्धि हुई है और देश के विभिन्न क्षेत्रों में मॉब लिंचिंग की वारदातें सामने आ रही हैंल अभी हाल ही में झारखंड राज्य के सराए केला जिले के खरसावाँ में तबरेज़ अंसारी के साथ मॉब लिंचिंग की गह्तना सामने आई, लोगों ने उसे पीट-पीट कर मौत के घात उतार दिया l

 

हज़रत अबू हुरैरा (रज़ीअल्लाहु अन्हु) से मरवी है कि रसूलुल्लाह (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने फरमाया जिस व्यक्ति ने किसी मुसलमान के क़त्ल में आधे शब्द के साथ भी मदद की तो वह कयामत के दिन अल्लाह पाक से इस हाल में मुलाक़ात करेगा कि उसकी पेशानी पर लिखा हुआ होगा अल्लाह की रहमत से मायूसl

 

तसव्वुफ़ कोई बिदअत नहीं जैसा कि कुछ विरोधी तसव्वुफ़ प्रोपेगेंडा करते रहते हैंl तसव्वुफ़ असल में शरीअत के बताए हुए सिद्धांतों पर अल्लाह पाक से संबंध करने का नाम हैl तसव्वुफ़ दिल की निगहबानी का दोसरा नाम है क्योंकि इंसान बज़ाहिर जिस्म और नफ्स का नाम है मगर असल में, दिल का नाम है और अगर दिल मुसलमान ना हो सका तो रुकूअ व सुजूद या जुबान से खुदा का इकरार, दोनों निरर्थ हैंl

 

क़ाज़ी नुरुल इस्लाम शुरू से ही वैष्णो धर्म से प्रभावित हो कर उन्होंने वैष्णो धर्म स्वीकार कर लिया और मुर्शिदाबाद के राधा घात आश्रम के नेताई खेपा की मुरीदी विकल्प की और संन्यास ले लियाl उनका नाम राधामोए गोस्वामी रखा गयाl

कुरआन अल्लाह की मखलूक हैl यह उन आयतों का एक संग्रह है जो प्रारंभिक मक्की दौर में मोहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम पर उस सार्वभौमिक धर्म के लिए हिदायत के तौर पर नाज़िल हुई हैं जो ज़मीन पर हज़रत आदम अलैहिस्सलाम की पैदाइश से ही सभी कौमों की ओर एक ही संदेश के साथ भेजे जाने वाले बराबर हैसियत के विभिन्न रसूलों (कुरआन २:१३६) के जरिये भेजा गया हैl इसलिए, वह प्रारम्भिक आयतें जो हमें अमन और सहअस्तित्व, अच्छे समाज, सब्र, सहिष्णुता और बहुलतावाद की शिक्षा देती हैं कुरआन की बुनियादी और तामीरी आयतें हैंl यही इस्लाम का बुनियादी संदेश हैl लेकिन कुरआन में बहोत सारी ऐसी संदर्भ वाली आयतें भी हैं जो नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम और आपके सहाबा के लिए सख्त और मुश्किल तरीन स्थिति से निमटने के लिए अहकाम व हिदायत के तौर पर नाज़िल हुई थीं इसलिए कि मुशरेकीन ए मक्का और मदीना के अधिकतर अहले किताब ने नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के जरिये आने वाले खुदा के पैगाम को स्वीकार करने से इनकार कर दिया था और नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम और आपके कुछ सहाबा को नेस्त व नाबूद करने का निर्णय कर लिया थाl

 
What to Do Now?  अब क्या करें?
What to Do Now? अब क्या करें?
Dr. Ghulam Zarqani, Tr. New Age Islam

गैर मुस्लिम बच्चियों और औरतों के साथ तनहाई में बात चीत से परहेज़ करें और मामलों की हद तक बात करनी भी पड़े, तो दो चार की मौजूदगी में बात करें, ताकि शरपसंद तत्व नाज़ेबा आरोप लगा कर आपके पाक दामन को दागदार करने की हिम्मत ना कर सकें, नेज़ यह कि इस तरह क्षेत्रीय माहौल में धार्मिक घृणा का ज़हर फैलाने वाले कभी भी सफल नहीं हो सकेंगेl

 

लोकसभा के परिणामों के बाद मामूली अंतराल के बाद प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने दो बार मुसलमानों के सम्बन्ध से लचकदार रवय्या अपनाया है और उनके रवय्ये में अचानक अद्भुत परिवर्तन घटित हुआl पहले उन्होंने संसद के केन्द्रीय हाल में बीजेपी और एनडीए में शामिल दोसरी पार्टियों के चुनें संसद सदस्यों के सामने जो बयान दिया, इसकी गूंज और इस पर बहस का सिलसिला अभी समाप्त नहीं हुआ थाl........

 

ईद की नमाज़ के बाद गले मिलना एक अच्छा काम है जिस से आपसी विवाद और दूरियाँ समाप्त होती हैं और आपसी उल्फत व मोहब्बत को बढ़ावा मिलता हैl शताब्दियों से मुसलमानों में यह अमल प्रचलित है लेकिन अभी कुछ दिनों पहले दारुल उलूम देवबंद की और से ईद के मौके पर एक फतवा आया जिससे ना केवल मुसलमानों की दिल आजारी हुई बल्कि इस फतवा का दोसरी कौमों ने भी बढ़ चढ़ कर मज़ाक उड़ायाl

 

देहली के खुरेजी ख़ास क्षेत्र में ईद की नमाज़ के बाद एक कार तेज़ी से गुजरी और कई लोगों को टक्कर मारती हुई भाग निकलीl जिसके बाद अफवाहों का बाज़ार गर्म हो गयाl मुझे जो पहला मैसेज इस सिलसिले में मिला उसमें लिखा गया था कि खुरेजी ख़ास क्षेत्र में नमाजियों पर एक व्यक्ति ने कार दौड़ा दी जिस से साथ या आठ आदमी घायल हो गएl

 

हक़ व बातिल के इस जंग से आतंकवाद का जोश व जज़्बा प्राप्त करने वाले मुस्लिम युवा इन दोनों के बीच एक बुनियादी तुलना करने से चूक जाते हैं कि प्रारम्भिक इस्लाम इन जंगों की प्रकृति क्या थी और इन आतंकवादी तत्वों के संघर्ष की प्रकृति क्या है!

 

एक बन्दे को चाहिए कि अपने रब की इबादत और उसके आदेशों का अनुसरण करने में इखलास व नेकनीयती का प्रदर्शन करे, एक मखलूक को चाहिए कि दोसरे मखलूक के साथ मामलों और संबंधों को सुंदरता और इखलास व नेकनीयती के साथ निभाएl एक शहरी की जिम्मेदारी यह है कि वह अपने देश के लिए पुरी वफादारी और इखलास व नेकनीयती के साथ जीवन गुज़ारे, इसके निर्माण व विकास में बढ़ चढ़ कर भाग लेl

 

जब मुसलामानों की एक बड़ी जनसंख्या अपनी जाती ज़िन्दगी में कुरआनी शरीअत नाफ़िज़ कर ले तभी रियासत के कानून में परिवर्तन हो सकेगीl लोकतंत्र एक बेहतरीन और वाहिद रास्ता है और निश्चित रूप से यही एक ऐसे धर्म में परिवर्तन पैदा करने का इस्लामी रास्ता है जिसका एलान यह है कि “दीन में जबर व इकराह की कोई गुंजाइश नहीं है”l

 

हालिया कुछ वर्षों में यह देखा गया है कि जब भी रमजानुल मुबारक की १७ वीं तारीख आती है कश्मीर की घाटी के इन नेताओं की सरगर्मियां तेज़ हो जाती हैं और वह गजवा ए बद्र की उस तारीख का इस्तेमाल गजवा ए हिन्द की फर्जी मुहिम जुई के लिए ज़मीन हमवार करने और घाटी के सीधे साधे नवयुवकों को आतंकवाद की आग में झोकने के लिए करते हैंl

 

यह भी देखा गया है कि कभी कभी कुछ अहले इल्म मफहूम ए कुरआन की तसहील और तामीम में तफसीर ए कुरआन के उसूल व मुबादियात का इल्तेजाम नहीं कर पाते जिसके नतीजे में मफहूम परिवर्तित हो जाता है और कुछ जगहों पर कुरआन की अर्थ में बदलाव भी लाजिम आती हैl

 

तौबा का घर हमेशा खुला रहता है, अल्लाह का कोई भी बंदा अगर सच्चे दिल के साथ अपने गुनाहों की तौबा कर ले तो उसकी तौबा कुबूल होती है और अल्लाह उसे अपनी नेअमतों से नवाज़ता हैl

 
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 ... 55 56 57


Get New Age Islam in Your Inbox
E-mail:
Most Popular Articles
Videos

The Reality of Pakistani Propaganda of Ghazwa e Hind and Composite Culture of IndiaPLAY 

Global Terrorism and Islam; M J Akbar provides The Indian PerspectivePLAY 

Shaukat Kashmiri speaks to New Age Islam TV on impact of Sufi IslamPLAY 

Petrodollar Islam, Salafi Islam, Wahhabi Islam in Pakistani SocietyPLAY 

Dr. Muhammad Hanif Khan Shastri Speaks on Unity of God in Islam and HinduismPLAY 

Indian Muslims Oppose Wahhabi Extremism: A NewAgeIslam TV Report- 8PLAY 

NewAgeIslam, Editor Sultan Shahin speaks on the Taliban and radical IslamPLAY 

Reality of Islamic Terrorism or Extremism by Dr. Tahirul QadriPLAY 

Sultan Shahin, Editor, NewAgeIslam speaks at UNHRC: Islam and Religious MinoritiesPLAY 

NEW COMMENTS

  • You have been out-countered innumerable times and exposed as a liar and....
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • Reconciliation of personal spiritualism with a secular world is a delicate....
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • counter me. do not "repute..." a particular website. how low can you fall!
    ( By hats off! )
  • "Dr Zawahiri, your slander against democracy is totally out of place and un-Islamic....
    ( By Kaniz Fatma )
  • The word terrorism can not be used with Islam because it is offensive to the basis meaning of Islam.....
    ( By Ghulam Tantray )
  • Burhan Wani’s successor, even threatened to kill Hurriyat leaders for calling Kashmir’s separatist ....
    ( By Kurien Varughese )
  • Islamic terroism sponsorey by Zionist lobby... First Taliban, then Alquida, now Isis or is ....
    ( By Sajahan Mullassery )
  • actually there is nothing aceptable to the islam named " new age islam " . It is also very comedeous ...
    ( By Md Helal Kalimullah )
  • @Sharda Rajan hindutvat terrorist spotted'
    ( By AaMir HaSan )
  • The biggest lynching in the history of India was agsinst the Kashmiri pundits.'
    ( By Subhashis Choubey )
  • @Abu Basim Khan Why muslims are killing muslims? There are more than 50 muslim countries but....
    ( By Subhashis Choubey )
  • A number of arguments are very solid. Dr. Zawahiri should stop provoking Muslims.
    ( By GGS )
  • These self styled caretakers of Muslims are a threat to Islam and Muslims. They provide justifications....
    ( By Arshad )
  • Imagine, for a moment- all past memories are removed by the almighty, from the minds of all people- ....
    ( By Tulsi Tawari )
  • Hats Off's increasingly shameless and venomous comments vilifying "moderate" Muslims would not...
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • Hats Off seems to specialize in making shallow and outlandish comments.
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • all snakes in the grass think alike. all "moderate" muslims beg crawl or steal their way to the u...
    ( By hats off! )
  • as god is beyond the understanding of humans, you can lie, cheat, cook up stories, attribute all....
    ( By hats off! )
  • "The Mutazilite theologians argued that human free will was....
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • Excellent reply from Sultan Shaheen sahib to Zawahiri. However...
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • This Man should be removed from human rights council because....
    ( By Prabhakar Chitrala )
  • Sultan do you want spread terrorism by muslims.? World....
    ( By Prabhakar Chitrala )
  • Does Hats Off understand anything at all? It is not that the western....
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • Good article
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • Whether Hamza Yusuf is included in or excluded from the U.S. Government's ....
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • This is not a freedom of religion issue. It is an equal rights issue.
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • It's funny that women need a male guardian, women can drive and now can watch football matches....
    ( By Dr. D. Natarajan )
  • The efforts of Sultan Shahin are commendable.'
    ( By Amitabh Tripathi )
  • The issue is not defamation of Islam. The history of Islam is such that nobody ( non-Muslim ) ....
    ( By Biplab Sensarma )
  • How much do you know about Indian intolerance? # Angnao'
    ( By Sarajit Kumar Bairagi )
  • Indian people need loves each other such as Hindu, Christian, sikh, Muslim and others. If you....
    ( By Md Afuan )
  • @Kaushallya Hegde Kumblar Why are you supported pakistan Hindu, because they are not included...
    ( By Md Afuan )
  • @Kaushallya Hegde Kumblar Why are you supported pakistan Hindu, because they are not included ....
    ( By Md Afuan )
  • @Md Afuan Don’t be hypocrite,where is freedom of expression in Pakistan. The moment you write ....
    ( By Kaushallya Hegde Kumblar )
  • Very good attempt. All countries including India should be religiously tolerant'
    ( By Bhabesh Mitra )
  • @Sarajit Kumar Bairagi because both are victims of intolerance.
    ( By Bhabesh Mitra )
  • @Abu Basim Khan Why are you adding the question of Dalit to question of Muslim?'
    ( By Sarajit Kumar Bairagi )
  • Any comment about Indian democracy, follow up and implementation of constitutions, atrocities...
    ( By Abu Basim Khan )
  • By zehadi intolerance Muslims are harming themselves. See isis .'
    ( By Bhabesh Mitra )
  • @Md Afuan soudi arab is bombing Yemen'
    ( By Bhabesh Mitra )